Latest news
MCD में फिर बजेगा AAP का डंगा, दिल्ली की जनता ने माना AAP कट्टर ईमानदार पार्टी- मनीष सिसोदिया Kulhad Pizza का नया विवाद शुरु, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो खूब हो रहा ट्रौल जालंधर-फगवाड़ा गेट की हांगकांग मार्किट को सील करने की तैयारी, कांग्रेसी राज में किसने वसूले थे 28 ला... अटारी बाजार बोर्ड वाला चौंक के पास फिर शुरु हुआ 35 अवैध दुकानों का निर्माण, "पुरानी फाईल गायब, सिस्ट... जालन्धर तहसील में हुए विवाद में आरोपी पवन कुमार को मिली अदालत से राहत, जांच में शामिल पंजाब- शिक्षा के मंदिर में बच्चों के परिजनों ने की कर्लक की जमकर धुलाई, सीसीटीवी वायरल जालन्धर- AAP की सरकार में "बेरोजगार" हुए तकनीकि बिल्डिंग इंस्पैक्टर, 10 दिनों बाद भी नहीं सौंपा गया ... निगम के लिए एक ओर बड़ी मुसीबत-फोल्ड़ीवाल ट्रीटमैंट प्लांट के बाहर तंबू लगाकर शुरु हुआ प्रर्दशन,कूड़े... पूर्व कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा की जमानत याचिका पर आया यह फैसला, विजीलैंस ने कोर्ट के समक्ष रख... आम आदमी पार्टी के विधायक की सिफारिश पर लगी महिला SHO भ्रष्टाचार के केस में सस्पेंड

पंजाब में 300 यूनिट मुफ्त बिजली विवाद गर्माया, सीएम भगवंत मान स्पष्ट की स्थित पढ़े किसे देना होगा बिजली बिल



रोज़ाना पोस्ट 




300 units of free electricity in Punjab पंजाब सरकार ने 300 यूनिट प्रति महीना मुफ्त बिजली देने की घोषणा की है तब से इस पर राजनीति होने लगी है। विपक्ष ने सरकार को अनुसूचित जाति और जनरल वर्ग में विभाजन करने वाला फैसला बताकर घेर रखा है। बिजली मंत्री हरभजन सिंह ने फ्री बिजली पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि अनुसूचित जाति के एक किलोवाट से कम वाले वर्ग को ही पूरी तरह से तीन सौ यूनिट माफ होंगे और साथ ही यह सुविधा उनके लिए नहीं है जिनका परिवार आयकर भरता है।

 

बता दें, सरकार ने जब 300 यूनिट निशुल्क बिजली देने का ऐलान किया था तो कहा था कि अनुसूचित जाति, पिछड़ी जाति और स्वतंत्रता संग्रामियों को मिलने वाली 200 यूनिट की सुविधा अब 300 यूनिट होगी। अगर उनकी खपत 300 से ऊपर जाती है तो उन्हें अतिरिक्त यूनिटों का ही बिल देना होगा।वहीं, जनरल वर्ग को भी 300 यूनिट निशुल्क मिलेंगे, लेकिन अगर उनका बिल 301 आया तो फिर उन्हें पूरा बिल अदा करना होगा। विपक्ष के नेताओं जिनमें भाजपा के डा. सुभाष शर्मा हों या अरविंद खन्ना सभी ने सरकार को इस मामले में घेरा है कि क्या जनरल वर्ग ने उन्हें वोट नहीं द

इस दुविधा को स्पष्ट करते हुए बिजली मंत्री ने कहा है कि अनुसूचित जातियों के केवल उन लोगों को ही 300 यूनिट माफ हैं जिनका लोड एक किलोवाट है। बता दें, यह सुविधा अकाली-भाजपा सरकार के समय शुरू की गई थी। तब एक किलोवाट वाले अनुसूचित जाति के लोगों को दो सौ यूनिट माफ थे।बता दें, आम आदमी पार्टी ने चुनाव के समय पंजाब के लोगों के साथ कई वादे किए थे। इन वादों को आप की गारंटी बताया गया। पंजाब की सत्ता संभालते ही सीएम भगवंत मान ने कई अहम घोषणाएं की। राज्य में रिक्त पदों को भरने की हरी झंडी दी। इसके अलावा भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए वाट्सएप नंबर जारी किया। 

आम आदमी पार्टी की प्रमुख घोषणा 300 यूनिट बिजली माफ करने की थी। मान सरकार ने अपने एक महीने पूरे होने पर इसकी घोषणा की तो राज्य में लोगों को बड़ी राहत मिली। इस घोषणा पर अमल एक जुलाई से होना है, लेकिन मान सरकार की घोषणा के बाद विपक्ष हमवालर हो गया। इस पर राजनीति होने लगी थी।