Latest news
जालन्धर विनय मंदिर के पंडित के खिलाफ ब्लात्कार का मामला दर्ज, गिरफ्तार पंजाब पुलिस को खुली चुनौती- पीएपी हैडक्वार्टर की दीवारों पर लिखे खालिस्तानी नारे, मामला दर्ज पंजाब में अगले चार दिन लगातार भारी बारिश की चेतावनी,विभाग ने जारी किए निर्देश पंजाब - ड्रग इंस्पेक्टर बबलीन कौर को पुलिस ने किया गिरफ्तार , मुख्यमंत्री की एंटी करप्शन हेल्पलाइन प... जालंधर - शरारती तत्वों ने लम्बा पिंड सड़क पर खड़ी आधा दर्जन कारों के शीशे तोड़े, शिकायत दर्ज जालंधर मकसूदां सब्ज़ी मंडी में गैस स्लेंडर फटा, 1 घायल लख लाहनत- सीमा आर्ट ने 8वीं बार किया निगम की बेसमैंट पर कब्जा, वर्कशाप चालू डेविएट में खूनी टकराव - एक छात्र की मौके पर मौत, दो श्रीमन अस्पताल दाखिल जालंधर अर्बन एस्टेट में चल रहे स्पार्कल स्पा सेंटर में CIA की रेड, 2 जोड़े आपत्तिजनक हालत में काबू संगरूर लोकसभा चुनाव में वोटरों का नहीं नजर आ रहा उत्साह, अब तक सिर्फ इतने प्रतिशत हुआ मतदान

जाखड़ के ब्यान के बाद चुनावी प्रचार छोड़ माता वैष्णो देवी दरबार पहुंचे सिद्धू , पढ़े वजह

innocent-jan-2022-strip
innocent-jan-2022-strip

रोज़ाना पोस्ट 

दिग्गज नेताओं के क्रियाकलापों से पंजाब कांग्रेस में खलबली मची हुई है। बुधवार सुबह पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रधान सुनील जाखड़ के सीएम बनने को 42 विधायकों के समर्थन के दावे के बाद अब नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर बड़ी खबर आई है। विधानसभा हलका अमृतसर पूर्वी से कांग्रेस प्रत्याशी नवजोत सिंह सिद्धू बुधवार को अचानक चुनाव प्रचार छोड़ माता वैष्णो देवी के दर्शन करने रवाना हो गए। इसके बाद राजनीतिक चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है कि कहीं कांग्रेस सीएम फेस की घोषणा तो नहीं करने वाली है। माता वैष्णो देवी जाने को लेकर सिद्धू ने खुद ट्विटर पर भी पोस्ट भी डाली है। उन्होंने माता वैष्णो देवी दरबार जाने के बारे में लिखते हुए माता वैष्णो देवी से प्रार्थना की कि वे दुष्टों का विनाश करें, पंजाब का कल्याण करें और धर्म की स्थापना करें। 

राजनीति के माहिर इसे पंजाब कांग्रेस कुर्सी को लेकर मचे घमासान के नतीजे के रूप में देख रहे हैं। बता दें कि कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री चेहरे के लिए आप की तर्ज पर आनलाइन सर्वे करवाया जा रहा है। कांग्रेस कभी भी पंजाब में सीएम फेस की घोषणा कर सकती है। 

सुबह पूर्व पंजाब कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ ने यह कहकर राजनीतिक खलबली मचा दी कि पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के त्याग पत्र के बाद उन्हें 42 विधायकों का समर्थन हासिल था लेकिन सीएम बने 2 विधायकों के समर्थन वाले चरणजीत सिंह चन्नी। सुखजिंदर सिंह रंधावा को 16 और नवजोत सिंह सिद्धू को मात्र 6 विधायकों ने अपना समर्थन दिया था। 

दस निर्धारित कार्यक्रम छोड़कर माता वैष्णो देवी गए सिद्धू

सिद्धू के बुधवार के शेड्यूल के मुताबिक हलके की विभिन्न वार्डों में दस के लगभग कार्यक्रम निर्धारित थे। सुबह डीसीसी की पूर्व प्रधान व पार्षद जतिंदर सोनिया के निवास पर रखे गए पहले ही कार्यक्रम में वह नहीं पहुंचे। पता करने पर जानकारी मिली कि सिद्धू मां वैष्णों देवी के दर्शनों को चले गए हैं। उनके अचानक यूं हलके से जाने से कई तरह की चर्चाएं की जा रही हैं। कांग्रेस की पूर्व शहरी प्रधान व पार्षद जतिंदर सोनिया बताया कि उनके घर पर सिद्धू के आने की जानकारी मिली थी। वैसे मंगलवार को कार्यक्रम था, जिसमें सिद्धू ने आना था, पर वह नहीं आए। बुधवार को उनके आने की उम्मीद थी, पर कोई सूचना नही दी थी।