Latest news
जालन्धर विनय मंदिर के पंडित के खिलाफ ब्लात्कार का मामला दर्ज, गिरफ्तार पंजाब पुलिस को खुली चुनौती- पीएपी हैडक्वार्टर की दीवारों पर लिखे खालिस्तानी नारे, मामला दर्ज पंजाब में अगले चार दिन लगातार भारी बारिश की चेतावनी,विभाग ने जारी किए निर्देश पंजाब - ड्रग इंस्पेक्टर बबलीन कौर को पुलिस ने किया गिरफ्तार , मुख्यमंत्री की एंटी करप्शन हेल्पलाइन प... जालंधर - शरारती तत्वों ने लम्बा पिंड सड़क पर खड़ी आधा दर्जन कारों के शीशे तोड़े, शिकायत दर्ज जालंधर मकसूदां सब्ज़ी मंडी में गैस स्लेंडर फटा, 1 घायल लख लाहनत- सीमा आर्ट ने 8वीं बार किया निगम की बेसमैंट पर कब्जा, वर्कशाप चालू डेविएट में खूनी टकराव - एक छात्र की मौके पर मौत, दो श्रीमन अस्पताल दाखिल जालंधर अर्बन एस्टेट में चल रहे स्पार्कल स्पा सेंटर में CIA की रेड, 2 जोड़े आपत्तिजनक हालत में काबू संगरूर लोकसभा चुनाव में वोटरों का नहीं नजर आ रहा उत्साह, अब तक सिर्फ इतने प्रतिशत हुआ मतदान

Improvement Trust के बाद विजीलैंस की रडार पर Town Planning के कई अफसर, ऐसे करते थे सरकार के साथ धौखा !

innocent-jan-2022-strip
innocent-jan-2022-strip

अनिल वर्मा

पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद पिछले पांच सालौं दौरान आंखे बंद करके बैठी  विजीलैंस विभाग की भी नींद टूट गई है। बीते दिनों जालन्धर इंप्रूवमैंट ट्रस्ट के दफ्तर में हुए करोड़ों रुपयों के घोटालों संबंधि कई फाईलें जब्त करके जांच शुरु की गई। इसके बाद विजीलैंस की टीम सोमवार को जालन्धर नगर निगम के टाउन प्लानिंग विभाग में छापेमारी कर सकती है। पिछले पांच सालौ दौरान कांग्रेसी नेताओं को खुश करने के लिए शहर में हजारों अवैध कारोबारी इमारतें बनवाई गई।

यही नहीं सैंकडो़ं अवैध इमारतों को सील करने के बाद चंद ही घंटों के बाद एक एफीडेविट के आधार पर खोल दिया गया मगर जिन शर्तों का एफिडेविट में हवाला दिया गया था उनका पालन कई साल बीतने के बाद भी नहीं किया गया और न ही संबंधित सैक्टरों के इंस्पैक्टरों ने उन इमारतों की स्टेटस रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौंपी। आरोप है कि कांग्रेसी नेताओं के इशारे पर ऐसी कई फाईलों को गायब कर दिया गया जिनको निगम ने शर्तों के अनुसार गिराने के लिए प्राप्टी मालिकों से एफीडेविट लिए थे। इनमें ज्यादातर वह इमारतें शामिल हैं जिनका नक्शा रिहायशी पास था मगर मौके पर कारोबारी निर्माण कर इस्तेमाल करना शुरु कर दिया गया था। 

इन नाजायज कारोबारी इमारतों की एफीडेविट के आधार खोली गई थी सीलें, नहीं हुआ शर्तों का पालन

  • जरनैल सिंह एंड सन्ज़ ( फगवाड़ा गेट)
  • किरण बुक स्टोर (माईहीरां गेट)
  • 5 दुकानें ( मिशन कंपाऊंड)
  • होटल आर-1 (सतनाम नगर)
  • दाल मिल ( लंमा पिंड)
  • 15 दुकानें ( टांडा रोड हनुमान मंदिर के समीप)
  • माईक खोसला की इमारत ( दोआबा चौंक)
  • जैरथ स्किन क्लिनक ( आबाद पुरा)
  • होटल इंद्रप्रस्थ के सामने 
  • जेपी नगर चौंक से माता के ढाबे वाली सड़क पर
  • दिलबाग पतीसा के सामने
  • ज्योति डाक्टर वाली गली फगवाड़ा गेट
  • 15 दुकानें दकोहा भगवान वाल्मिकी आश्रम के सामने
  • सेठी इंडस्ट्री की 12 दुकानें
  • अजीत टिंबर संतोखपुरा
  • चावला बिल्डिंग मटीरियल के साथ वाली इमारत (अवतार नगर रोड)
  • अग्रवाल अस्पताल की विवादित इमारत

 

इस मामले में एमटीपी मेहरबान सिंह से संपर्क नहीं हो सका।