Latest news
MCD में फिर बजेगा AAP का डंगा, दिल्ली की जनता ने माना AAP कट्टर ईमानदार पार्टी- मनीष सिसोदिया Kulhad Pizza का नया विवाद शुरु, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो खूब हो रहा ट्रौल जालंधर-फगवाड़ा गेट की हांगकांग मार्किट को सील करने की तैयारी, कांग्रेसी राज में किसने वसूले थे 28 ला... अटारी बाजार बोर्ड वाला चौंक के पास फिर शुरु हुआ 35 अवैध दुकानों का निर्माण, "पुरानी फाईल गायब, सिस्ट... जालन्धर तहसील में हुए विवाद में आरोपी पवन कुमार को मिली अदालत से राहत, जांच में शामिल पंजाब- शिक्षा के मंदिर में बच्चों के परिजनों ने की कर्लक की जमकर धुलाई, सीसीटीवी वायरल जालन्धर- AAP की सरकार में "बेरोजगार" हुए तकनीकि बिल्डिंग इंस्पैक्टर, 10 दिनों बाद भी नहीं सौंपा गया ... निगम के लिए एक ओर बड़ी मुसीबत-फोल्ड़ीवाल ट्रीटमैंट प्लांट के बाहर तंबू लगाकर शुरु हुआ प्रर्दशन,कूड़े... पूर्व कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा की जमानत याचिका पर आया यह फैसला, विजीलैंस ने कोर्ट के समक्ष रख... आम आदमी पार्टी के विधायक की सिफारिश पर लगी महिला SHO भ्रष्टाचार के केस में सस्पेंड

“बेरी का दबाव खत्म ” डेढ़ साल बाद मोदी रिसोर्ट के पीछे कांग्रेसी नेताओं की शह पर काटी गई दो अवैध कालोनियों पर चली डिच



अनिल वर्मा




नगर निगम को पिछले पांच सालों दौरान अपनी उंगलियों पर नचाने वाले कांग्रेसी नेताओं की आखिर नगर निगम में तूती बोलनी बंद हो चुकी है अब अधिकारी बेरी का फोन तक उठाने में गुरेज कर रहे हैं। सैंट्रल हल्के से मौजूदा विधायक रमन अरोड़ा ने कल कमिशनर करनेश शर्मा सहित सभी विभागों के साथ मीटिंग कर सभी मुलाजिमों को दबाव मुक्त हो कर कानूनी कारवाई करने के लिए आदेश दिए थे जिसका असर 24 घंटे बीतने से पहले ही दिखना शुरु हो गया है।

आज सुबह टाउन प्लानिंग विभाग की टीम ने भारी पुलिस बल के साथ फगवाड़ा हाईवे पर स्थित मोदी रिसोर्ट के पीछे तथा रागा मोटर के पीछे काटी गई दो अवैध कालोनियों पर डिच चला कर यहां सीवरेज, पानी के कनैक्शन काट दिए हैं और सड़कों को पूरी तरह से उखाड़ दिया है। मिली जानकारी अनुसार इस नाजायज कालोनी के खिलाफ कारवाई करने में बिल्डिंग विभाग को डेढ़ साल का वक्त लग गया। इस कालोनी को डैमोलेश आर्डर भी जारी हो चुके थे मगर दबाववश विभाग कारवाई नहीं कर पा रहा था।

बता दें कि पंजाब सरकार की ओर से 19 मार्च 2018 के बाद अवैध कालोनियों को रैगुलाईज करने सबंधि पाबंदी लगा दी थी मगर यह कालोनियां बीते 2020-21 के दौरान काटी गई। इस मामले में कमिशनर दफ्तर को एक शिकायत मिली है जिसमें यह आरोप लगाया है कि यहां प्लाटों की एनओसी हासिल करने के लिए दिए अष्टाम पेपरों को टैंपर किया गया है। जिसकी जांच के बाद बहुत बड़ा घोटाला सामने आने की संभावना है।

जानकारी देते हुए एटीपी रविंदर कुमार ने कहा कि इन दोनो कालोनियों को पहले भी डिमोलिश किया गया था और कालोनाईजर के खिलाफ पापरा एक्ट के अनुसार एफआईआर दर्ज करने के लिए दो बार पत्र भेजा जा चुका है जिसका एक रिमांडर जल्द भेजा जाएगा।

 बता दें कि बीते करीब दो साल पहले मोदी रिसोर्ट के पीछे काटी गई कालोनी में चार दुकानों को भी पूरी तरह से तोड़ दिया गया था मगर बेरी के हस्तक्षेप के बाद बिना रोकटोक वही दुकानें दोबारा तैयार हो गई फिलहाल टीम ने दुकानों को दोबारा नहीं गिराया। एटीपी रविंदर कुमार ने बताया कि अब उसको रिहायशी एनओसी जारी की गई है।