Latest news
MCD में फिर बजेगा AAP का डंगा, दिल्ली की जनता ने माना AAP कट्टर ईमानदार पार्टी- मनीष सिसोदिया Kulhad Pizza का नया विवाद शुरु, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो खूब हो रहा ट्रौल जालंधर-फगवाड़ा गेट की हांगकांग मार्किट को सील करने की तैयारी, कांग्रेसी राज में किसने वसूले थे 28 ला... अटारी बाजार बोर्ड वाला चौंक के पास फिर शुरु हुआ 35 अवैध दुकानों का निर्माण, "पुरानी फाईल गायब, सिस्ट... जालन्धर तहसील में हुए विवाद में आरोपी पवन कुमार को मिली अदालत से राहत, जांच में शामिल पंजाब- शिक्षा के मंदिर में बच्चों के परिजनों ने की कर्लक की जमकर धुलाई, सीसीटीवी वायरल जालन्धर- AAP की सरकार में "बेरोजगार" हुए तकनीकि बिल्डिंग इंस्पैक्टर, 10 दिनों बाद भी नहीं सौंपा गया ... निगम के लिए एक ओर बड़ी मुसीबत-फोल्ड़ीवाल ट्रीटमैंट प्लांट के बाहर तंबू लगाकर शुरु हुआ प्रर्दशन,कूड़े... पूर्व कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा की जमानत याचिका पर आया यह फैसला, विजीलैंस ने कोर्ट के समक्ष रख... आम आदमी पार्टी के विधायक की सिफारिश पर लगी महिला SHO भ्रष्टाचार के केस में सस्पेंड

सीएम चन्‍नी भदौड़ तथा चमकौर साहिब सीटों से लड़ेंगे चुनाव



रोज़ाना पोस्ट 




पंजाब के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को दो सीटों से चुनाव लड़ाने का दांव खेलकर बड़ी सियासी चाल चली है। दरअसल, इससे  कांग्रेस ने राज्‍य के मालवा क्षेत्र में मजबूूत आम आदमी पार्टी (AAP) और शिरोमणि अकाली दल (SAD) के वोट बैंक में सेंध लगाने की कोशिश की है। वैसे चन्‍नी के दो सीटों से चुनाव मैदान में उतरने को लेकर कांग्रे सऔर विरोधी दलों मेंं बयानबाजी भी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेताओं का कहना है  मुख्यमंत्री मालवा में आम आदमी पार्टी  के गढ़ में चुनौती देने के लिए भदौड़ गए हैं। वहीं, विरोधियों ने कहा है कि वह हार के डर से भदौड़ भाग गए।

चरणजीत सिंह चन्नी होंगे पंजाब के मुख्यमंत्री, दलित-सिख चेहरा कांग्रेस का  'मास्टरस्ट्रोक'? - BBC News हिंदी

दूसरी ओर, यह बात भी सामने आई है कि कांग्रेस में सीएम चन्‍नी को जलालाबाद से चुनाव लड़ाने का दबाव था, लेकिन पार्टी ने उनको आप (AAP) के गढ़ से उतारने का फैसला किया। कांग्रेस में यह मांग उठ रही थी कि चन्नी को शिअद के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल के सामने उसी तरह मैदान में उतारना चाहिए, जिस प्रकार शिअद ने बिक्रम सिंह मजीठिया को नवजोत सिद्धू को उतारा है। जलालाबाद में 56 प्रतिशत राय सिख बिरादरी है। इस लिए यह मांग उठ रही थी कि चन्नी को सुखबीर बादल के सामने उतारकर शिअद की रणनीति को झटका दिया जाए, लेकिन पार्टी ने चन्नी को बरनाला के भदौड़ से टिकट दिया।