Latest news
जालन्धर विनय मंदिर के पंडित के खिलाफ ब्लात्कार का मामला दर्ज, गिरफ्तार पंजाब पुलिस को खुली चुनौती- पीएपी हैडक्वार्टर की दीवारों पर लिखे खालिस्तानी नारे, मामला दर्ज पंजाब में अगले चार दिन लगातार भारी बारिश की चेतावनी,विभाग ने जारी किए निर्देश पंजाब - ड्रग इंस्पेक्टर बबलीन कौर को पुलिस ने किया गिरफ्तार , मुख्यमंत्री की एंटी करप्शन हेल्पलाइन प... जालंधर - शरारती तत्वों ने लम्बा पिंड सड़क पर खड़ी आधा दर्जन कारों के शीशे तोड़े, शिकायत दर्ज जालंधर मकसूदां सब्ज़ी मंडी में गैस स्लेंडर फटा, 1 घायल लख लाहनत- सीमा आर्ट ने 8वीं बार किया निगम की बेसमैंट पर कब्जा, वर्कशाप चालू डेविएट में खूनी टकराव - एक छात्र की मौके पर मौत, दो श्रीमन अस्पताल दाखिल जालंधर अर्बन एस्टेट में चल रहे स्पार्कल स्पा सेंटर में CIA की रेड, 2 जोड़े आपत्तिजनक हालत में काबू संगरूर लोकसभा चुनाव में वोटरों का नहीं नजर आ रहा उत्साह, अब तक सिर्फ इतने प्रतिशत हुआ मतदान

जालन्धर : फिर विवादों में घिरा LED प्रौजेक्ट, मेयर , पार्षद तथा विपक्ष की आज अहम बैठक, LED कम्पनी के खिलाफ बड़ा फैसला लेने की तैयारी

innocent-jan-2022-strip
innocent-jan-2022-strip

अनिल वर्मा 

LED Street light project in Jalandhar जालन्धर में एक बार फिर स्ट्रीट लाईट का एलईडी प्रोजैक्ट विवादों में घिर चुका है। इस प्रौजेक्ट से खफा कांग्रेसी एक बार फिर एकजुट हो गए हैं हालांकि पिछली सरकार द्वारा पारिरत 274 करोड़ के प्रौजेक्ट का घोटाला उजागर करने के बाद कांग्रेसी नेताओं ने 44 करोड़ का यह नया प्रौजैक्ट लांच किया था इस प्रौजेक्ट के शुरु होने के एक साल बाद अब कांग्रेसी नेताओं की कम्पनी की वर्किंग ठीक नहीं लग रही तथा शहर में लगने वाली एलईडी लाईटों से जहां प्रार्षद नाराज हैं वही आम लोग भी शिकायतों की लंबी लिस्ट लेकर कम्पनी से खफा है।

LED Street Lights at Rs 950 | LED Street Lamp, AC LED Street Light, Light  Emitting Diode Street Light, Light Emitting Diode Street Lamp, एलईडी  स्ट्रीट लाइट - Monarck Electronik Industry, Nagpur | ID: 11313753091

बीते दिनों रैड क्रास भवन में हुई हाउस मीटिंग दौरान इस प्रौजेक्ट पर चर्चा करने के लिए मेयर जगदीश राजा ने एक खास मीटिंग बुलाने की बात कही थी जिसके बाद आज यह बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में कमिशनर दीपशिखा के भी शामिल होने की संभावना है। इस प्रौजैक्ट में बड़े घोटाले के आरोप लगाए जा रहे हैं। आरोप है कि कम्पनी ने सर्वे वाली जगह पर लाईटे न लगाने की बजाए पुराने प्वाईंट पर ही लगा दी और इस दौरान न तो पुरानी तारों को बदला गया और न ही मेन स्विच, पोल, ब्रैकेट आदि बदले गए। कम्पनी ने बड़ी चालाकी से पुरानी लाईटों को उतार कर उसका सारा सामान इस्तेमाल कर निगम को नए सामान का बिल भेज दिया।

जबकि शर्तों अनुसार कम्पनी की ओर से पूरे शहर में एलईडी लाईटों संबंधी नई तारों, पोल, ब्रैकेट, स्विच आदि लगाने थे और डार्क जोन को भी रोशन करना था मगर ऐसा नहीं हुआ। आज मीटिंग दौरान जहां कांग्रेसी नेताओं का एलईडी कंपनी के खिलाफ गुस्सा फूटेगा वहीं विपक्ष भी अपनी भड़ास निकालेगा। आज बैठक दौरान एलईडी कंपनी के खिलाफ एकजुट होने वाले पार्षद कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं।