Latest news
MCD में फिर बजेगा AAP का डंगा, दिल्ली की जनता ने माना AAP कट्टर ईमानदार पार्टी- मनीष सिसोदिया Kulhad Pizza का नया विवाद शुरु, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो खूब हो रहा ट्रौल जालंधर-फगवाड़ा गेट की हांगकांग मार्किट को सील करने की तैयारी, कांग्रेसी राज में किसने वसूले थे 28 ला... अटारी बाजार बोर्ड वाला चौंक के पास फिर शुरु हुआ 35 अवैध दुकानों का निर्माण, "पुरानी फाईल गायब, सिस्ट... जालन्धर तहसील में हुए विवाद में आरोपी पवन कुमार को मिली अदालत से राहत, जांच में शामिल पंजाब- शिक्षा के मंदिर में बच्चों के परिजनों ने की कर्लक की जमकर धुलाई, सीसीटीवी वायरल जालन्धर- AAP की सरकार में "बेरोजगार" हुए तकनीकि बिल्डिंग इंस्पैक्टर, 10 दिनों बाद भी नहीं सौंपा गया ... निगम के लिए एक ओर बड़ी मुसीबत-फोल्ड़ीवाल ट्रीटमैंट प्लांट के बाहर तंबू लगाकर शुरु हुआ प्रर्दशन,कूड़े... पूर्व कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा की जमानत याचिका पर आया यह फैसला, विजीलैंस ने कोर्ट के समक्ष रख... आम आदमी पार्टी के विधायक की सिफारिश पर लगी महिला SHO भ्रष्टाचार के केस में सस्पेंड

जालन्धर : फिर विवादों में घिरा LED प्रौजेक्ट, मेयर , पार्षद तथा विपक्ष की आज अहम बैठक, LED कम्पनी के खिलाफ बड़ा फैसला लेने की तैयारी



अनिल वर्मा 




LED Street light project in Jalandhar जालन्धर में एक बार फिर स्ट्रीट लाईट का एलईडी प्रोजैक्ट विवादों में घिर चुका है। इस प्रौजेक्ट से खफा कांग्रेसी एक बार फिर एकजुट हो गए हैं हालांकि पिछली सरकार द्वारा पारिरत 274 करोड़ के प्रौजेक्ट का घोटाला उजागर करने के बाद कांग्रेसी नेताओं ने 44 करोड़ का यह नया प्रौजैक्ट लांच किया था इस प्रौजेक्ट के शुरु होने के एक साल बाद अब कांग्रेसी नेताओं की कम्पनी की वर्किंग ठीक नहीं लग रही तथा शहर में लगने वाली एलईडी लाईटों से जहां प्रार्षद नाराज हैं वही आम लोग भी शिकायतों की लंबी लिस्ट लेकर कम्पनी से खफा है।

LED Street Lights at Rs 950 | LED Street Lamp, AC LED Street Light, Light  Emitting Diode Street Light, Light Emitting Diode Street Lamp, एलईडी  स्ट्रीट लाइट - Monarck Electronik Industry, Nagpur | ID: 11313753091

बीते दिनों रैड क्रास भवन में हुई हाउस मीटिंग दौरान इस प्रौजेक्ट पर चर्चा करने के लिए मेयर जगदीश राजा ने एक खास मीटिंग बुलाने की बात कही थी जिसके बाद आज यह बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में कमिशनर दीपशिखा के भी शामिल होने की संभावना है। इस प्रौजैक्ट में बड़े घोटाले के आरोप लगाए जा रहे हैं। आरोप है कि कम्पनी ने सर्वे वाली जगह पर लाईटे न लगाने की बजाए पुराने प्वाईंट पर ही लगा दी और इस दौरान न तो पुरानी तारों को बदला गया और न ही मेन स्विच, पोल, ब्रैकेट आदि बदले गए। कम्पनी ने बड़ी चालाकी से पुरानी लाईटों को उतार कर उसका सारा सामान इस्तेमाल कर निगम को नए सामान का बिल भेज दिया।

जबकि शर्तों अनुसार कम्पनी की ओर से पूरे शहर में एलईडी लाईटों संबंधी नई तारों, पोल, ब्रैकेट, स्विच आदि लगाने थे और डार्क जोन को भी रोशन करना था मगर ऐसा नहीं हुआ। आज मीटिंग दौरान जहां कांग्रेसी नेताओं का एलईडी कंपनी के खिलाफ गुस्सा फूटेगा वहीं विपक्ष भी अपनी भड़ास निकालेगा। आज बैठक दौरान एलईडी कंपनी के खिलाफ एकजुट होने वाले पार्षद कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं।