Latest news
MCD में फिर बजेगा AAP का डंगा, दिल्ली की जनता ने माना AAP कट्टर ईमानदार पार्टी- मनीष सिसोदिया Kulhad Pizza का नया विवाद शुरु, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो खूब हो रहा ट्रौल जालंधर-फगवाड़ा गेट की हांगकांग मार्किट को सील करने की तैयारी, कांग्रेसी राज में किसने वसूले थे 28 ला... अटारी बाजार बोर्ड वाला चौंक के पास फिर शुरु हुआ 35 अवैध दुकानों का निर्माण, "पुरानी फाईल गायब, सिस्ट... जालन्धर तहसील में हुए विवाद में आरोपी पवन कुमार को मिली अदालत से राहत, जांच में शामिल पंजाब- शिक्षा के मंदिर में बच्चों के परिजनों ने की कर्लक की जमकर धुलाई, सीसीटीवी वायरल जालन्धर- AAP की सरकार में "बेरोजगार" हुए तकनीकि बिल्डिंग इंस्पैक्टर, 10 दिनों बाद भी नहीं सौंपा गया ... निगम के लिए एक ओर बड़ी मुसीबत-फोल्ड़ीवाल ट्रीटमैंट प्लांट के बाहर तंबू लगाकर शुरु हुआ प्रर्दशन,कूड़े... पूर्व कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा की जमानत याचिका पर आया यह फैसला, विजीलैंस ने कोर्ट के समक्ष रख... आम आदमी पार्टी के विधायक की सिफारिश पर लगी महिला SHO भ्रष्टाचार के केस में सस्पेंड

Kiran Book Depot के मालिक किरण आनंद ने की गिरी हुई हरकत, दिल्ली की कम्पनी की शिकायत के आधार पर पर्चा दर्ज, गिरफ्तार



अनिल वर्मा




माई हीरा गेट में स्थित किरण बुक डिपो के मालिक किरण आनंद के खिलाफ जालन्धर पुलिस ने धौखाधड़ी और कॉपी राईट का केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है। यह कारवाई नोएडा की पीएम पब्लिशर्ज के गौतम द्वारा जालन्धर पुलिस कमिशनर को दी गई शिकायत के आधार पर की गई  छापेमारी के बाद की गई। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि किरण बुक डिपो में 6 वीं और 8 वीं क्लास की किताबें डुप्लीकेट छाप कर बाजार में बेची जा रही थी। पुलिस ने शिकायतकर्ता को साथ लेकर मौके पर छापेमारी की और वहां से भारी मात्रा में डुप्लीकेट किताबें बरामद हुई।

 

 

पुलिस ने मौके पर ही किरण बुक डिपो के मालिक किरण आंनद के खिलाफ पर्चा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि किरण बुक उस वक्त चर्चा में आया था जब बीते वर्ष एक पीए की सिफारिश पर किरण बुक शाप के पीछे कई रिहायशी मकानों को खुर्दपुर्द करके उसकी जमीन को दुकान के साथ मिला लिया था जिसका नगर निगम से कोई भी नक्शा पास नहीं करवाया गया था। कई शिकायतों के बाद निगम ने उक्त इमारत को सील किया मगर हकीकत में इस दुकान के पीछे सरेआम काम चलता रहा मगर कांग्रेसी नेता के पीए की सिफारिश पर नगर निगम ने कोई कारवाई नहीं की। सत्ता परिवर्तन होने के बाद अब किसी भी किरण बुक शॉप को निगन सील कर सकता है क्योंकि इस इमारत का कंपाऊंडिंग प्लान को निगम रिजैक्ट करने की तैयारी कर रहा है इस इमारत में पार्किंग के लिए कोई भी जगह नहीं छोड़ी गई और पीछे रिहायशी मकानों का कोई भी सीएलयू नहीं करवाया गया जिससे सरकार को लाखों रुपये के रैवन्यू का नुक्सान हुआ।