Latest news
जालन्धर विनय मंदिर के पंडित के खिलाफ ब्लात्कार का मामला दर्ज, गिरफ्तार पंजाब पुलिस को खुली चुनौती- पीएपी हैडक्वार्टर की दीवारों पर लिखे खालिस्तानी नारे, मामला दर्ज पंजाब में अगले चार दिन लगातार भारी बारिश की चेतावनी,विभाग ने जारी किए निर्देश पंजाब - ड्रग इंस्पेक्टर बबलीन कौर को पुलिस ने किया गिरफ्तार , मुख्यमंत्री की एंटी करप्शन हेल्पलाइन प... जालंधर - शरारती तत्वों ने लम्बा पिंड सड़क पर खड़ी आधा दर्जन कारों के शीशे तोड़े, शिकायत दर्ज जालंधर मकसूदां सब्ज़ी मंडी में गैस स्लेंडर फटा, 1 घायल लख लाहनत- सीमा आर्ट ने 8वीं बार किया निगम की बेसमैंट पर कब्जा, वर्कशाप चालू डेविएट में खूनी टकराव - एक छात्र की मौके पर मौत, दो श्रीमन अस्पताल दाखिल जालंधर अर्बन एस्टेट में चल रहे स्पार्कल स्पा सेंटर में CIA की रेड, 2 जोड़े आपत्तिजनक हालत में काबू संगरूर लोकसभा चुनाव में वोटरों का नहीं नजर आ रहा उत्साह, अब तक सिर्फ इतने प्रतिशत हुआ मतदान

पंंजाब के डिप्‍टी सीएम रंंधावा का नवजोत सिंह सिद्धू पर बड़ा हमला, जानें सीएम पद को लेकर क्‍या कहा

innocent-jan-2022-strip
innocent-jan-2022-strip

पंजाब 

पंजाब में विधानसभा चुनाव की सरगर्मी चरम पर है, इसके बावजूद कांग्रेस में खींचतान खत्‍म नहीं हो रही है। कांग्रेस के सीएम चेहरे को लेकर पार्टी में घमासान मचा हुआ है।  अब  राज्य के उप मुख्यमंत्री और किसी समय मुख्यमंत्री पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे सुखजिंदर सिंह रंधावा ने नवजोत सिंह सिद्धू पर बउ़ा हमला किया है। उन्‍होंंने कहा कि पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष सिद्धू ने उन्‍हें (रंधावा को) कैप्‍टन अमरिंदर सिंह के बाद सीएम बनने नहीं दिया। 

 

 

रंधावा  ने कहा, कैप्टन को हटाए जाने के बाद मेरा नाम मुख्यमंत्री बनने के लिए हो गया था तय

रंधावा ने पंजाब कांग्रेस का चेहरा घोषित करने के मामले में कहा है कि इस समय दो नेताओं के बीच कशमकश चल रही है। इन पर कोई फैसला हो तो ही किसी तीसरे को मौका मिलेगा। एक टीवी चैनल पर रंधावा ने कहा कि जब कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद से हटाया गया था तो मेरे नाम पर सहमति बनने के बाद यह तय भी हो गया था कि वह अगले मुख्यमंत्री होंगे। लेकिन ऐसा नहीं हो सका क्योंकि तब नवजोत सिंह सिद्धू इस बात पर अड़ गए कि अगर किसी जट्ट सिख को मुख्यमंत्री बनाना है तो उन्हें (सिद्धू) क्यों नहीं बनाया जा रहा।

उल्लेखनीय है कि रंधावा ने तो अपने समर्थकों को यह कहकर मिठाइयां भी बांट दी थीं कि पार्टी ने उन्हें मुख्यमंत्री पद के लिए चुन लिया है। परंतु जब बाद में मुख्यमंत्री पद को लेकर पेंच फंसा तो सभी विधायकों की बैठक में पार्टी के पर्यवेक्षकों ने वोटिंग करवाई। इस दौरान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ को सबसे ज्यादा वोट मिले, लेकिन अंबिका सोनी ने यह बयान दे दिया कि पंजाब का मुख्यमंत्री किसी सिख को होना चाहिए।