Latest news
MCD में फिर बजेगा AAP का डंगा, दिल्ली की जनता ने माना AAP कट्टर ईमानदार पार्टी- मनीष सिसोदिया Kulhad Pizza का नया विवाद शुरु, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो खूब हो रहा ट्रौल जालंधर-फगवाड़ा गेट की हांगकांग मार्किट को सील करने की तैयारी, कांग्रेसी राज में किसने वसूले थे 28 ला... अटारी बाजार बोर्ड वाला चौंक के पास फिर शुरु हुआ 35 अवैध दुकानों का निर्माण, "पुरानी फाईल गायब, सिस्ट... जालन्धर तहसील में हुए विवाद में आरोपी पवन कुमार को मिली अदालत से राहत, जांच में शामिल पंजाब- शिक्षा के मंदिर में बच्चों के परिजनों ने की कर्लक की जमकर धुलाई, सीसीटीवी वायरल जालन्धर- AAP की सरकार में "बेरोजगार" हुए तकनीकि बिल्डिंग इंस्पैक्टर, 10 दिनों बाद भी नहीं सौंपा गया ... निगम के लिए एक ओर बड़ी मुसीबत-फोल्ड़ीवाल ट्रीटमैंट प्लांट के बाहर तंबू लगाकर शुरु हुआ प्रर्दशन,कूड़े... पूर्व कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा की जमानत याचिका पर आया यह फैसला, विजीलैंस ने कोर्ट के समक्ष रख... आम आदमी पार्टी के विधायक की सिफारिश पर लगी महिला SHO भ्रष्टाचार के केस में सस्पेंड

सुनील जाखड़ तथा नवजोत सिंह सिद्घू ने पंजाब के डेरों खिलाफ टिप्पणी, “डेरों की दुकान हुई बेनकाब”



रोज़सना पोस्ट 




Sunil Jakhar and Navjot Singh Sidhu remark against Deras of Punjab पंजाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पार्टी के पूर्व प्रदेश प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू ने डेरों पर तंज कसा। सुनील जाखड़ ने कहा कि इस चुनाव में डेरे एक्सपोज हो गए हैं। जिन लोगों ने अपने अनुयायियों के वोट बेचने के लिए या राजनीतिक/फिल्मी फायदे के लिए गुरु के नाम पर डेरा जैसी दुकानें खोली हैं। वे चुनाव के कारण बेनकाब हो गए हैं। धर्म के नाम पर राजनीति करने वालों और बेअदबी को बढ़ावा देने वाले आज राजनीतिक रूप से नष्ट हो गए हैं।

बता दें, इस विधानसभा चुनाव में डेरा सच्चा सौदा सहित अन्य डेरों ने कुछ राजनीतिक दलों के पक्ष में फतवा जारी किया था, लेकिन जो चुनाव परिणाम आए उससे डेरों का वोट कहां है इस बारे में कुछ पता नहीं चल रहा।  पंजाब चुनाव में आम आदमी पार्टी को एकतरफा वोट पड़े। आप ने राज्य की 117 सीटों में से 92 सीटों पर शानदार जीत दर्ज की, जबकि डेरे का दावा था कि मालवा में उनका प्रभाव है। वहां वह प्रत्याशियों की जीत-हार तय करते हैं। 

डेरे ने अपना समर्थन किसी और दल को दिला, लेकिन इसके बावजूद आम आदमी पार्टी ने मालवा में शानदार प्रदर्शन किया। राजनीतिक पंडितों का मानना है कि डेरे का दावा गलत साबित हुआ है। अगर डेरा अनुयायियों ने एकतरफा वोटिंग की होती तो परिणाम कुछ और होता। सुनील जाखड़ ने डेरों के इन्हीं दावों पर तंज कसा है। जाखड़ ने कहा कि डेरे अनुयायियों की वोट बेचने के नाम पर दुकानें चला रहे हैं। स्वस्थ लोकतंत्र के लिए यह ठीक नहीं। इस चुनाव में डेरे पूरी तरह से एक्सपोज हो गए हैं।