Latest news
MCD में फिर बजेगा AAP का डंगा, दिल्ली की जनता ने माना AAP कट्टर ईमानदार पार्टी- मनीष सिसोदिया Kulhad Pizza का नया विवाद शुरु, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो खूब हो रहा ट्रौल जालंधर-फगवाड़ा गेट की हांगकांग मार्किट को सील करने की तैयारी, कांग्रेसी राज में किसने वसूले थे 28 ला... अटारी बाजार बोर्ड वाला चौंक के पास फिर शुरु हुआ 35 अवैध दुकानों का निर्माण, "पुरानी फाईल गायब, सिस्ट... जालन्धर तहसील में हुए विवाद में आरोपी पवन कुमार को मिली अदालत से राहत, जांच में शामिल पंजाब- शिक्षा के मंदिर में बच्चों के परिजनों ने की कर्लक की जमकर धुलाई, सीसीटीवी वायरल जालन्धर- AAP की सरकार में "बेरोजगार" हुए तकनीकि बिल्डिंग इंस्पैक्टर, 10 दिनों बाद भी नहीं सौंपा गया ... निगम के लिए एक ओर बड़ी मुसीबत-फोल्ड़ीवाल ट्रीटमैंट प्लांट के बाहर तंबू लगाकर शुरु हुआ प्रर्दशन,कूड़े... पूर्व कैबिनेट मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा की जमानत याचिका पर आया यह फैसला, विजीलैंस ने कोर्ट के समक्ष रख... आम आदमी पार्टी के विधायक की सिफारिश पर लगी महिला SHO भ्रष्टाचार के केस में सस्पेंड

पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी की गिरफ्तारी पर हाई कोर्ट ने इस तारीख तक लगाई रोक



 रोज़ाना पोस्ट 




Punjab and Haryana High Court पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय  ने पंजाब के पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी  के खिलाफ लंबित या दर्ज होने की संभावना वाले सभी मामलों में गिरफ्तारी पर रोक को 20 अप्रैल तक बढ़ा दिया. न्यायमूर्ति अरविंद सिंह सांगवान की पीठ ने कहा है कि 10 सितंबर, 2021 का अंतरिम आदेश सुनवाई की अगली तारीख तक जारी रहेगा. पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने सैनी को फरवरी, 2022 तक किसी भी अदालत में व्यक्तिगत रूप से पेश होने से छूट दी थी, जहां उनके खिलाफ कोई मुकदमा लंबित है, लेकिन उन्हें पूर्व अनुमति के बिना देश नहीं छोड़ने का निर्देश दिया था.

 

ये आदेश सैनी द्वारा 2018 में दायर एक याचिका पर पारित किए गए थे, जिसमें उन्होंने अपने खिलाफ दर्ज किसी भी मामले की जांच सीबीआई या पंजाब के बाहर किसी अन्य स्वतंत्र एजेंसी को सौंपने की मांग की थी. उच्च न्यायालय ने पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी को न केवल उसके खिलाफ सभी मामलों में जांच पर, बल्कि सभी पंजीकृत या दर्ज होने की संभावना वाले मामलों में आगामी फरवरी माह में चुनाव संपन्न होने तक गिरफ्तारी पर भी स्पष्ट रोक लगा दी थी. हाईकोर्ट ने कहा था कि आगामी राज्य विधानसभा चुनावों के मद्देनजर गिरफ्तारी राजनीतिक चाल हो सकती है.